सोमवार, 22 फ़रवरी 2021

उम्र इतनी फिर भी छाया हुआ है उम्दा क्रिकेटर

जब कभी भी सीमित क्रिकेट की बात होगी तो उसमे वेस्ट इंडीज के तूफानी बल्लेबाज क्रिस गेल का नाम जरूर आएगा.जिस प्रकार से उम्र के इस पड़ाव में गेंदबाजों पर कहर बनकर टूट रहे हैं.उसे देखते हुए ऐसा प्रतीत होता है की वास्तव में वो सीमित ओवरों के क्रिकेट के 'यूनिवर्स बॉस ' कहलाने के काबिल हैं.फिलहाल कैरिबियाई खिलाड़ी इस वक़्त पीसीएल यानी पाकिस्तान सुपर लीग में क्वेटा ग्लैडिएटर्स की तरफ से खेल रहे हैं. 


41 वर्ष बाद भी गेंदबाजों पर हावी :-जबरदस्त कैरिबियाई खिलाड़ी 41 वर्ष से भी ज्यादा समय के हो गए हैं लेकिन जिस तरह से वो गेंदबाजों की धुनाई करते हैं.उसे देखते हुए बस यही कहा जाना उचित होगा की "गेल के लिए उम्र मात्र एक नंबर हैं."हालांकि अभी हाल में संपन्न हुए टी-10 प्रतियोगिता में गेल का बल्ला शुरुआती मैचों में नहीं चला था तो कयास लगाया जा रहा था की उनपर अब उम्र हावी हो रही है लेकिन उन्होंने जबरदस्त वापसी की.


लाहौर कलंदर्स के खिलाफ दिखाई आतिशबाजी :-पकिस्तान सुपर लीग में गेल सरफराज खान की कप्तानी वाली टीम क्वेटा ग्लैडिएटर्स के हिस्सा हैं.आज के मैच में जिस तरह उन्होंने विपक्षी टीम के गेंदबाजों की खबर ली.उसे देखकर शायद विपक्षी टीम के कप्तान का होश उड़ गया होगा.इस दौरान गेल ने महज 40 गेंदों में 5 छक्के और इतने ही चौके की बदौलत 68 रनों की आतिशी पारी खेली. 


पॉलीक्रिक के अनुसार "गेल की ये पारी लाहौर कलंदर्स के मोहम्मद हफ़ीज़ ने ख़राब कर दी.हफ़ीज़ ने अपने पीसीएल इतिहास में सबसे तेज निजी पचासा लगाया".हफीज ने अपना अर्धशतक मात्र 24 गेंदों में पूरा किया.हफ़ीज़ ने नाबाद 73 और फखर जमान ने नाबाद 82 रनों की पारी खेली और टीम को जीत दिलायी.

लेबल:

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें

सदस्यता लें टिप्पणियाँ भेजें [Atom]

<< मुख्यपृष्ठ